गुड़िया भाभी और उनका देवर

0
Loading...

प्रेषक : सौरव ..

हैल्लो फ्रेंड्स.. मेरा नाम सौरव है और मेरी उम्र 20 साल है.. दोस्तों में आप सभी लोगों को अपनी एक रियल स्टोरी सुनना चाहता हूँ अपनी और अपनी हॉट भाभी की.. अभी मेरी भाभी की उम्र 22 होगी और मेरे भैया एक बहुत बड़े बिजनसमैन है और तीन साल पहले की बात है जब मेरे भैया की शादी हुई.. भाभी बहुत ही सुंदर थी और वो बहुत गोरी थी और उनकी हाईट लगभग 5.5 इंच की होगी। उस वक़्त मुझे भाभी उतनी सेक्सी नहीं लगती थी और ना ही में उन्हे उस नज़र से देखता था और फिर दो महीने के बाद वो प्रेग्नेंट हुई और उसके कुछ दिनों के बाद मैंने देखा कि उनका शरीर बड़ा ही सेक्सी होता जा रहा था और उनकी गांड फैलती जा रही थी और बूब्स धीरे धीरे बड़े होते जा रहे थे। तो तब से मेरे दिल पर वो राज करने लगी में हमेशा उन्हे गंदी नज़र से देखता था.. एक दिन शाम को वो नहाने के लिए बाथरूम में गयी थी और में उसी बाथरूम की खिड़की पर चढ़ा और उनको नहाते हुए नंगा देखने लगा.. ओह भगवान में आपको अपना वो अहसास शब्दों में नहीं बता सकता.. उनके बड़े बड़े बूब्स लटके हुए थे जिसे देखकर में पागल हो गया और फिर उस दिन मैंने मुठ मारने का रिकॉर्ड तोड़ दिया। फिर उसके बाद मैंने उन्हे देखने की बहुत कोशिश की.. लेकिन में सफल नहीं हो पाया।

फिर उनका बेटा हुआ और जब वो एक साल का हुआ तो मेरी भाभी और भी सेक्सी लगने लगी.. वो जब भी वो अपने बेटे को अपना दूध पिलाती तो में उनके बूब्स को छुपकर देखता था और अब मैंने मन ही मन उनको चोदने ठान ली थी.. लेकिन ज़बरदस्ती नहीं। में अक्सर उनसे मज़ाक किया करता था और उन्हे आँख भी मारा करता था और वो मुझे हमेशा बोला करती थी कि क्या आप पागल हो गए है और में उन्हे जवाब में सेक्सी स्माईल देता था और में हमेशा उनको कपड़े चेंज करते वक़्त छुपकर देखा करता था और कभी कभी वो मुझे देख भी लेती थी.. लेकिन वो मुझसे कुछ बोलती नहीं थी और इसी तरह हम दोनों के बीच की दूरियाँ थोड़ी कम हो गयी। तो एक दिन मैंने उनके कमरे में एक कंडोम का पैकेट देखा जो बहुत पुराना था और वो शायद मेरे भैया का भाभी के लिए था। तभी उसी वक़्त भाभी कमरे में आ गयी और उन्होंने मुझे उस कंडोम के साथ देख लिया और वो बहुत शरमा गयी.. तो मैंने उसका फायदा उठाया और उनसे पूछा कि यह किसका है?

तो वो मज़ाक में बोली कि आपका ही है.. फिर मैंने थोड़ी हिम्मत करके उनसे पूछा कि यह इतना पुराना और अभी तक रखा हुआ है तो वो गुस्से में बोली कि आप मुझसे इतना क्यों पूछ रहे हो? और जो पूछना है अपने लालू भैया से पूछिए। तो दो दिन तक मैंने इस बारे में बहुत सोचा और एक दिन घर पर कोई नहीं था.. घर के सभी लोग मेरे दादा जी से मिलने हॉस्पिटल में पटना गये थे और उस दिन घर पर सिर्फ़ में, भाभी और उनका बेटा था। में और वो साथ में टीवी देख रहे थे.. तभी अचानक से टीवी पर कंडोम का विज्ञापन आता है और वो उसे देखकर मुझसे अचानक सॉरी बोलने लगी। तो मैंने उनसे पूछा कि आपने मुझसे सॉरी क्यों कहा? तो वो बोली कि उस दिन मैंने आपसे बहुत खराब तरीके से बात कि इसलिए। तो फिर मैंने उनसे कहा कि ऐसी कोई बात नहीं और मैंने साथ में यह भी पूछा कि आपने भैया को लालू क्यों कहा? कसम से में किसी को नहीं बताऊंगा। तब उन्होंने बताया कि आपके भैया को सेक्स करना अच्छा नहीं लगता.. वो कभी सेक्स के मूड में नहीं रहते है और शादी के बाद बस एक ही बार हम दोनों के बीच कुछ हुआ है। तो मैंने उनसे बस इतना ही कहा कि सब ठीक हो जाएगा और उसके बाद हम दोनों एक दूसरे के बहुत करीब हो गए थे। हमने साथ में दिन का खाना खाया और फिर शाम को छत पर घूमने चले गये और हम दोनों एक दूसरे का हाथ पकड़ कर चल रहे थे और रोमॅंटिक बातें करने लगे। तो मैंने उन्हे अपनी इच्छा बता दी कि में तुमसे बहुत प्यार करता हूँ और आप मुझे बहुत अच्छी लगती हो। तो वो अच्छी बात है कहकर नीचे चली गयी और उनके चहरे के हावभाव देखकर मुझे लगा कि उन्हे मुझ पर बहुत गुस्सा आया। फिर भी में उनके पीछे पीछे नीचे गया.. तभी अचानक भैया का कॉल आया और वो कहने लगी कि वो आज रात नहीं आएँगे.. क्योंकि हाइवे पर बहुत लंबा जाम लगा था और उन्होंने कहा कि वो कल दोपहर 12 बजे तक आ जाएँगे। तो में यह बात सुनकर बहुत खुश हो गया और फिर भाभी किचन में चली गयी.. तो मैंने घर के सारे गेट लॉक कर दिए और में भी किचन में जाकर उनकी मदद करने लगा। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

Loading...

तभी थोड़ी देर बाद मुझसे रहा नहीं गया और मैंने उन्हे पीछे से किस किया और उन्हे में तुमसे बहुत प्यार करता हूँ कह दिया.. वो बोली कि प्लीज कोई देख लेगा तो में बहुत बदनाम हो जाऊँगी और फिर मैंने अपना हाथ थोड़ा सा ढीला किया और वो घूम गयी। अब हम दोनों के चहरे एक दूसरे के सामने थे। मैंने उनके गालों पर धीरे से किस किया। वो मुझे धीरे हटाने की कोशिश करने लगी.. लेकिन फिर भी में नहीं हटा और उनके होंठ को चूसने लगा और दो मिनट के बाद भाभी ने भी मुझे कसकर जकड़ा और मेरे होंठो को चूसने लगी.. 10 मिनट तक हम दोनों का किस चला और उसके बाद उन्होंने मुझे धीरे से धक्का देकर हटा दिया और बोली कि हटिए मुझे बहुत काम है और वो वहां से सीधा किचन में चली गई। फिर रात में हमने रोमॅंटिक डिनर किया और उसके बाद हम सोने के लिए चले गये और हम लोग एक साथ एक ही बेड पर सो रहे थे.. लेकिन बीच में उनका बेटा सो रहा था और वो उसको अपना दूध पिला रही थी और मुझे उनकी छाती साफ साफ दिख रही थी तो मैंने उनकी कमर को सहलाना शुरू किया तो वो तड़प उठी तभी थोड़ी देर के बाद उनका बेटा सो गया।

फिर में उनके पास में आकर लेट गया और पागलों की तरह किस करने लगा उस वक़्त उन्होंने साड़ी पहन रखी थी तो उन्होंने उठकर अपनी साड़ी खुद ही उतार दी और अब वो मेरे सामने ब्लाउज और पेटीकोट में थी.. इतनी सेक्सी लग रही थी कि में उन्हें देखकर ही पागल ही हो गया और मैंने उनके ब्लाउज को पकड़ कर फाड़ दिया और उनकी नाभि को चाटने लगा.. उनके पेटीकोट को खोला और उनकी दोनों मस्त सेक्सी गोरी गोरी जांघों को चाटने लगा और अब उनमे भी बहुत जोश चढ़ गया था और फिर उन्होंने मुझे दूसरे कमरे में चलने को कहा। तो मैंने उनको गोद में उठाया और अपने कमरे में ले गया.. वो सिर्फ़ अपनी ब्रा और पेंटी में थी.. मैंने उनकी कुछ फोटो खींची और फिर ब्रा खोलकर उनके बूब्स चूसने लगा और उनका दूध भी पिया.. में उनके पूरे बदन को पागलों की तरह चाट रहा था। फिर अचानक वो उठकर कुछ लाने चली गयी और फिर वो केक वाली क्रीम लेकर आई और अपने पूरे बदन पर लगा लिया और मुझसे कहा कि इसे चाटो। तो मैंने वो पूरी क्रीम को कुत्ते की तरह चाट लिया फिर हम साथ में नहाने चले गये और शावर में हमने फ्रेंच किस किया और अब उन्होंने अपनी पेंटी को उतार दिया। तो में उनकी चूत में ऊँगली डालने लगा.. वो धीरे धीरे सिसकियाँ लेने लगी और मैंने ज्यादा देर ना करते हुए लंड को एक हाथ से पकड़कर चूत में डाल दिया। चूत और लंड दोनों ही पानी से गीले थे.. जिसकी वजह से लंड बिना किसी रुकावट के बड़े ही आराम से चूत की गहराईयों में चला गया और में धीरे धीरे धक्के देकर लंड को आगे पीछे करके चोदने लगा। पहले उन्हे थोड़ा बहुत दर्द हुआ था.. लेकिन फिर धीरे धीरे उनकी चूत का दर्द कम होता गया और हम दोनों को चुदाई का मज़ा आने लगा.. उनकी सिसकियों की आवाजों से मेरे पूरे शरीर के बाल खड़े हो रहे थे। फिर कुछ मिनट की चुदाई के बाद में झड़ गया और मेरा लंड छोटा होकर बाहर आने लगा और हम दोनों पागलों की तरह एक दूसरे को किस करने लगे और में उनके बूब्स को सहलाने लगा। फिर हम लोग बेड पर चले गये और दोनों पूरे नंगे ही एक दूसरे को किस करके सो गये और सुबह लगभग 5 बजे वो उठी और उसने मुझे किस करना शुरू कर दिया। जिससे मेरी भी नींद खुल गई तो में भी उनके किस का जवाब देने लगा और में उनको फिर से नीचे पटककर चोदने लगा। रात को में बहुत थक गया था इसलिए में उनकी गांड नहीं मार पाया और सुबह मैंने उनकी गांड पहले मारी और उसके बाद उनकी चूत में अपना लंड डाला और चोदने लगा। फिर धीरे धीरे मेरी स्पीड बढ़ गयी और उनकी दर्द भरी आवाज़ निकलने लगी और वो कहने लगी कि चोदो मुझे और ज़ोर से चोदो.. फाड़ दो आज मेरी चूत बना दो मुझे अपनी रांड.. मेरी चूत बहुत दिनों से प्यासी है.. बुझा दो मेरी चूत की प्यास बना लो मुझे अपनी दासी.. मुझे तुमसे यही उम्मीद थी।

फिर 40 मिनट बाद.. मेरे लंड से वीर्य उनकी चूत में उनको चोदते चोदते गिर रहा था और हम दोनों उस रात बहुत संतुष्ट हो गए और दूसरे दिन मैंने उन्हे एक गोली खिला दी ताकि वो प्रेग्नेंट ना हो और अब मेरे पास हर वक़्त उनको चोदने के लिए कंडोम रहता है उसके बाद रोज़ हम फ्रेंच किस करते और दोपहर को जब सब लोग सो जाते तो हम ऊपर स्टोर रूम में जाते और में उनके बूब्स चूसा करता था और उनको चोदा करता था। दोस्तों यह थी मेरी कहानी ।।

Loading...

धन्यवाद …

Comments are closed.

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


new hindi sexy storysexy storyywww hindi sexi storysexy story read in hindiarti ki chudaihinndi sexy storysagi bahan ki chudaihindi sex story in hindi languagesexi stories hindikutta hindi sex storyhindi sex story sexhindi sexy stroesnew hindi sexy storyhindi sexy story onlinesaxy storeyhinde six storysexy stiry in hindihinde sxe storihindi sex stories read onlinehinde sex estorereading sex story in hindisex hindi story comindian sex stphindi new sex storyhindi sexy stoeryhindi sexy sorysexi stories hindinew hindi sexy storiesexstores hindisex kahani hindi mbehan ne doodh pilayasexy stoies hindiwww new hindi sexy story comhindi sex storidsonline hindi sex storiessex kahani hindi mhindi sex story hindi languageread hindi sex stories onlinenew sexy kahani hindi mesexy new hindi storysimran ki anokhi kahanihindi sex story in hindi languagehindi sex story audio comchudai kahaniya hindisx storyssexy story hindi freesexy story hinfisexey storeysexi hindi kathasex stories in hindi to readhindi sexy khanihindi sexy storyihindi sex khaneyanew hindi story sexysexi storijchut land ka khelsex story of hindi languagehindisex storhindisex storyssexy storyysexy stry in hindihendi sax storesexy stry in hindimaa ke sath suhagratsexi stories hindimonika ki chudaiwww hindi sexi storyhindhi saxy storybadi didi ka doodh piyahindisex storihind sexi storyhindi sex story hindi languagehindi audio sex kahaniasexy storiysexy stoeynew sexi kahanimaa ke sath suhagratsex hind storefree hindi sex story audiohinde sex estoresexy story in hindi languagehindi sex stories in hindi fonthidi sexy storyhindi front sex story