सालियों की अदला बदली

0
Loading...
प्रेषक : गुमनाम
दोस्तों, अभी तक आप बीवियों की अदला बदली करते आयें है । सुनते भी आए है । समाज में बड़ा कामन है ।
क्या आप जानते है की उसी तरह सालियों की भी अदला बदली हो सकती है । अदला बदली का मतलब तुम मेरी साली चोदो मैं तुम्हारी साली चोदूं । कुछ लोग बीवी की चुदाई से ज्यादा मज़ा साली को चोद कर लेते है । ऐसी दशा में साली की अदला बदली करके चुदाई का दुगुना मज़ा लिया जा सकता है । और जब सालियों की शादी हो जाए तो वे बीवियों की अदला बदली में अपने आप सामिल हो जाएँगी . चलिए मैं आपको एक ऐसे व्यक्ति से मिलवाता हूँ जिसने अपने दोस्त की साली को चोदा और अपनी साली को दोस्त से चुदवाया वह भी आमने सामने अब सुनिए वे क्या बातचीत कर रहे है :-
कासिम अपने दोस्त से बोला :- यार, अली मेरा दिल तेरी साली पर आ गया है । उसके नाम से मेरा लौडा खड़ा हो जाता है । मैं चाहता हूँ की तुम अपनी साली को पटाकर ले आओ । मैं उसको मजे से चोदना चाहता हूँ । बदले में तू मेरी बीवी को चोद ले । मैं वादा करता हूँ की मेरी बीवी तुमको बड़े प्यार से अपनी बुर देगी । तेरा लौडा मस्त कर देगी । एकबार नही कई बार चुदवा लेगी तुमसे ।
अली ने जबाब दिया :- हां यार तुमने ठीक कहा , मैं तो तेरी बीवी को चोदने के चक्कर में पहले से ही था । वह जब चलती है तो मेरे लौड़े में सुरसुरी होने लगती है । लेकिन यार साली तो तेरी भी है । गदराये बदन वाली साली । उसकी चूत मुझे दिलवा दो न यार । बदले में तुम भी मेरी बीवी चोद लेना । मेरी बीवी लौडा खूब मन लगाकर चूसती है पूरा का पूरा मुह में घुसेड लेती है लंड । मज़ा आ जाएगा तेरे लंड को । रही मेरी साली शब्बो की बात तो मैं उसकी बुर तुमको दिलवा दूँगा । हां वह भी जवान हो गयी है । २२ साल की है चूंचियां बड़ी हो गयी है ।
कासिम :- अच्छा वो मेरी बीवी के मामा की लड़की नाजिया । हां यार तुमने खूब याद दिलाया । उसको तो मैं भूल ही चुका था । जवान तो हो गयी है बुर चोदी । चूंचियां बड़ी बड़ी हो गयी है उसकी । लांड तो मजे से चूसेगी वो । मैं वादा करता हूँ की वह तुम्हारा लौडा जरुर पकड़ेगी ।
अली अपने काम में लग गया । वह जल्दी से जल्दी इस काम को करना चाहता था क्योकि उसका मन कासिम की बीवी को चोदना था । उधार वादे के मुताब्बिक कासिम अपनी साली शब्बो को पटाने में लग गया । वह शब्बो को घुमाने ले जाने लगा। उससे मीठी मीठी बातें करने लगा । धीरे धीरे मजाक ज्यादा करने लगा । और आगे बढ़ा तो उससे अश्लील बातें करने की कोशिश करने लगा ।
एक दिन अली बोला :- शब्बो जानती हो साली को आधी घरवाली क्यों कहा जाता है ?
शब्बो :- नही मैं नही जानती । तुम बताओ न जीजा जी ।
अली :- देखो बीवी के साथ तो सब कुछ किया जाता है लेकिन साली के साथ आधा किया जाता है ।
शब्बो :- क्या किया जाता है जीजा जी , ठीक से बताओ न
अली :- मैं अगर बता दूँ तो तुम बुरा तो नही मानोगी ।
शब्बो :- मैं कहा बुरा मानने वाली । मैं बिल्कुल नाराज़ नही हूँगी , बताओ न
अली :- देखो बीवी को चोदा जाता है लेकिन साली को नही ।
शब्बो :- किसने कहा ये बात
अली :- चोदना जानती हो ?
शब्बो :- आप बड़े वो है जीजा जी , मुझसे पूंछते है , क्या आप नही जानते है ?
अली :- अरे मैं तो जनता ही हूँ लेकिन क्या तुम भी जानती हो ?
शब्बो :- हां मेरी सहेली कहती है हो सकता है । वो तो अपने जीजा से करवाती है । एक आप है जो ये वो कह रहे है । तुम्हारी जगह कोई और होता तो अब तक कर चुका होता ।
अली :- देखो, कर तो मैं भी दूंगा लेकिन पहले चोदने का मतलब बताओ ?
शब्बो :- अन्दर घुसेड़ना और क्या ।
अली :- क्या घुसेड़ना बोलो न साफ साफ ?
शब्बो :- (उसने अली के लंड पर हाथ रख कर कहा ) ये घुसेड़ना ।
अली :- ये क्या है, इसको क्या कहते है ?
शब्बो :- जीजा तुम इतने बड़े हो गए हो , तुम्हारी शादी हो गयी है । तुमको अपनी चीज का नाम नही मालूम है क्या ? तुम दीदी को क्या दे पावोगे ?
अली :- नाम तो मुझे मालूम है लेकिन मैं चाहता हूँ की तुमको भी मालूम हो जाए । बोलो क्या कहते इसे ?
शब्बो :- मुझे शर्म आ रही है । कैसे बताऊँ ?
अली :- बताओ न मेरी जान । एक बार तो बताओ मेरी प्यारी सी साली जी इसको क्या कहते है ?
शब्बो :-‘ लंड ‘ कहते है और क्या । बस सुन लिया मेरे मुह से ‘लंड’ लो और सुनो ‘ लंड ‘ ‘ लंड’ ‘लंड ‘
अली :- और क्या कहते है ?
शब्बो :- और ‘लौडा ‘ कहते है बस
अली :- और क्या कहते है ?
शब्बो :- अरे बाबा ‘लांड’ भी कहते है । बस अब खुश हो ।
अली :- हां अब मैं खुश हूँ ।
शब्बो :- खुश हो तो दिखाओ अपना लंड । मैं अभी देखना चाहती हूँ इसी वख्त और सुनो साली आधी नही पूरी घरवाली होती है । चोदना के माने है लौडा चूत में पेलना । अब पेलो अपना लंड मेरी चूत में तब जाने दूँगी । अली ने उस दिन शब्बो को मजे से चोदा । उधर कासिम नाजिया के चक्कर में घूम रहा था । एक दिन उसने कहा नाजिया , चलो तुमको फ़िल्म दिखा लायें । नाजिया तैयार हो गयी । कासिम उसे उस पिक्चर हाल में ले गया जहाँ बहुत कम लोग थे और जाकर पीछे बैठ गया । अगल बगल कोई नही था । पूरे हाल में ७/८ लोग ही थे । कासिम ने धीरे से अपना हाथ नाजिया की चूंचियों की तरफ़ बढाया । वह कुछ नही बोली । कासिम ने हाथ फेरना शुरू किया नाजिया ने ऐतराज़ नही किया । कासिम की हिम्मत बढ़ी उसने चूंचियां दबा दी । नाजिया कुछ नही बोली । कासिम और आगे बढ़ गया । तब तक उसका लंड खड़ा हो चुका था । उसने नाजिया का हाथ पकड़ कर पैंट के ऊपर से ही अपने लंड पर रखा और कान में कहा इसे पकड़ो ज़रा प्लीज । नाजिया ने लंड छुआ और हाथ फ़ौरन हटा लिया । कासिम ने कहा अरे क्या हुआ नाराज़ हो गयी हो क्या ? वह बोली नाराज़ नही कितना बड़ा है तुम्हारा ? कासिम का लंड यह सुनकर और टन्ना गया । कासिम ने पूंछा क्या बड़ा है हमारा ? उसने जबाब दिया तुम्हारा लंड और क्या ? अब तो उसका लौडा काबू के बाहर हो गया । कासिम ने मौका देखकर लंड पैंट के बाहर निकल लिया और उसका हाथ पकड़ कर लंड पर रखा और कहा लो पकड़ लो न यार यहं कोई नही है । नाजिया ने लंड मूठी में लिया बोली अरे कितना गरम है , कितना मोटा है , कितना सख्त है । नाजिया धीरे धीरे लंड को मुठियाने लगी । उसने भी अपनी चूंचियां खोल दी । लंड के साथ उसे भी चूंचियां मसलवाने का मज़ा मिल रहा था। फ़िल्म देखने के बाद वो दोनों घर आ गए । दूसरे दिन मौका देखकर कासिम ने नाजिया को चोद दिया ।
चोदते हुए कासिम ने कहा :- यार नाजिया एक मेरा दोस्त है क्या तुम उसका लंड पकड़ लोगी ?
नाजिया :- क्यों नही ?
कासिम :- तेरी दीदी तो बुरा नही मानेगी ?
नाजिया :- दीदी भी तो शादी के पहले लंड पकड़ती थी । मैंने तो कई बार देखा । २/३ बार तो मैंने उनके साथ ही लंड पकड़ा । मेरी और दीदी की उमर में केवल दो साल का ही तो फरक है ।
कासिम :- मेरा दोस्त तुम्हे चोदने के लिए बेक़रार है
नाजिया :- ठीक है मैं चुदवा लूंगी लेकिन लौडा मस्त होना चाहिए । अगर लंड मेरे मन का हुआ तो यकीन मानिये ऐसा चुदवाऊँगी की वह ज़िन्दगी भर भूल नही पायेगा । उसकी बीवी भी ऐसा नही चुदवा सकती । दो दिन के बाद कासिम और अली दोनों मिले। कासिम नेकहा यार तुम्हे मुबारक हो मेरी साली मान गयी है बस तारीख और जगह तय कर लो । अली ने कहा वाह क्या इत्तिफाक है मेरी भी साली तैयार है । अब तो मज़ा ही मज़ा । अली का एक दोस्त था । उसका घर खाली था । उसकी चाभी अली के पास रहती थी , अली ने कहा बस काम बन गया अब मैं उसके घर जा रहा हूँ अपनी साली के साथ तुम भी वहीँ आ जाओ अपनी साली को लेकर । थोड़ी देर में वे चारों मिले । अली ने अपनी साली शब्बो से सबको मिलवाया और कासिम ने अपनी साली नाजिया से सबको मिलवाया । अली ने कहा यार थोड़ी हो जाए तो मज़ा और ज्यादा आएगा क्या नाजिया पी लेगी ? शब्बो तो पीती है मुझे मालूम है इतने में नाजिया ने कहा मुझे कोई परहेज नही है मैंभी मजे से पीती हूँ । अब चारों के हाथ में दारू के गिलास ऐयासी का कार्य क्रम चालू हो गया । अली ने कहा देखो शब्बो मेरा दोस्त कासिम तुम्हे बहुत चाहता है । शब्बो ने जबाब दिया ठीक है मैं कासिम के साथ बैठ जाती हूँ । कासिम ने कहा यार नाजिया मेरा दोस्त अली तुमको बहुत पसंद करता है । नाजिया उठी और अली के बगल में बैठती हुई बोली अच्छा तुम दोनों अपनी अपनी सालियाँ बदल कर मज़ा लुटाना चाहते हो । ठीक है लूटो हम भी अपने अपने जीजा बदल कर मज़ा लेगें । अली ने नाजिया की चूंचियों पर हाथ फिराने लगा । उधर कासिम ने शब्बो की चूंचियां पकड़ लीं । थोड़ी देर में दोनों की चूंचियां नंगी नंगी बाहर आ गयी और ब्रा को फेक दिया गया । फ़िर दोनों ने अपने पेटी कोट उतार डाले । नीचे कुछ था ही नही शिवाय चूत के और गांड के । दोनों सालियों को नंगी नंगी देखकर दोनों के लंड खड़े हो गए । सालियों ने देर नही लगाई दोनों को नंगा कर दिया और झट से उनके लंड पकड़ लिए । दोनों ही लंड हाथ में आते गनगना उठे । शब्बो बोली :- वाह क्या मस्ती है नाजिया , देख तेरे हाथ में मेरे जीजा का लंड , मेरे हाथ में तेरे जीजा का लंड । नाजिया ने जबाब दिया :- दोनों लौड़े साले एक से एक बढ़कर है , आज तो मैं खूब मस्ती से चुदवाऊँगी । इतना कह कर वह लंड चूसने लगी । शब्बो ने भी लौडा मुह में लिया । फ़िर शब्बो ने कासिम का लौडा पकड़ कर अपनी चूत में घुसेड कर कहा ले भोसड़ी के चोद ले मेरी चूत , कस कस कर चोद , पूरा लौडा पेल दे । उधर नाजिया ने अली का लंड बुर में पेलवाया और कहा ले इसी बुर के लिए तरस रहा था तू मादर चोद , ले बहन चोद चोद ले मुझे , घुसेड दे अपना घोड़े जैसा लंड । इन दोनों सालियों ने खूब जम कर चुदवाया । शब्बो बोली देख कासिम तेरी माँ की चूत , साले मुझे चारों तरफ़ से चोद ले और आखिर में मैं मुठ्ठ मार कर लंड झडवाऊँगी । उधर नाजिया ने भी यही कहा । अली और कासिम ने उस दिन इन दोनों सालियों को कई बार चोदा । कई बार लंड चुसवाये ।
अली ने कहा :- यार ऐसा मज़ा चुदाई का आज मिला है जो पहले कभी नही मिला ।
अली :- हां जानते हो क्यों ? यह सालियों को अदल बदल कर चुदाई का करिश्मा है ।
कासिम :- यार अब हम दोनों अपनी अपनी बीवियाँ अदल बदल कर चोदेंगें । मेरी बीवी तो बिल्कुल तैयार है । अली :- हां मैं तैयार हूँ और मेरी बीवी भी तैयार है। चलो आनेवाले शनिवार की रात को हो जाए।
धन्यवाद

Comments are closed.

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


sex hindi story downloadhindi sex story sexsaxy story audiohindi sexy story in hindi fonthandi saxy storysex sex story in hindisexy sotory hindisaxy storeysex story in hindi downloadsexi stroyhindi sex wwwwww indian sex stories cokamuktahendi sexy storyhindi sex kahani hindihinde sexe storesex ki hindi kahanihinde sexy storyhindi saxy kahanisexey storeyread hindi sex storiessexy stiorychudai kahaniya hindihindi sexy kahanisexi hindi kahani comhindi sexy story adiohindi sxe storehindi se x storiessexy stoy in hindisexy striesfree hindi sex storiessexe store hindesexy stiorysexy syory in hindiwww hindi sexi storyhind sexi storyhindi sex astorihindi sexy story in hindi fontsexy sex story hindisexy sex story hindisaxy story audiosex story of in hindisaxy store in hindisex st hindisexy adult story in hindikamukta comhindi sex story free downloadsexy story in hindohindi sex story in hindi languagesexistorisexy story hibdihindi saxy storynew sex kahanisaxy story hindi mhindi sex stories in hindi fontsex story in hidiwww hindi sex kahanihindhi saxy storyhindi font sex kahanihinde sexi kahanidownload sex story in hindisimran ki anokhi kahanisexy story new in hindisaxy hind storysex khaniya hindisaxy store in hindisex story hindi indianhindi sex stories read onlinedadi nani ki chudaihidi sexi storysexi hindi kathachudai story audio in hindihindi sexy story in hindi languagehindi saxy storechudai kahaniya hindi